सोनोग्राफी

सोनोग्राफी

हमारे पास एक अल्ट्रासोनोग्राफी इकाई है जो विशेष रूप से गर्भावस्था के दौरान विभिन्न प्रकार की चिकित्सीय स्थितियों का निदान करने में सहायक होती है। सोनोग्राफी शरीर के अंदर अंगों, ऊतकों या रक्त प्रवाह की गतिशील दृश्य छवियों का उत्पादन करने के लिए उच्च आवृत्ति ध्वनि तरंगों का उपयोग करती है। यह गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय की स्थिति और भ्रूण के विकास की निगरानी के लिए एक महत्वपूर्ण निदान उपकरण है। यह ग्रंथि, स्तन गांठ, वृषण गांठ, हड्डियों के रोग, जोड़ों के रोग आदि में असामान्यताओं का पता लगाने में भी सहायक है। सोनोग्राफी रक्त या द्रव प्रवाह में परिवर्तन दिखा सकती है। सोनोग्राफी के मार्गदर्शन में बायोप्सी के दौरान एक सुई को ऊतक के अंदर प्रवेश कराया जा सकता है। निदान की सबसे सुरक्षित और गैर-आक्रामक तकनीक सोनोग्राफी है।

आप हमारी गुणवत्ता पर भरोसा कर सकते हैं ।